“ सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥
 

कलयुग में मोक्ष कैसे मिलेगा ??

2017-09-29 02:19:01, comments: 0

 

बात उस समय की है जब भगवान श्री राम अपनी लीला पूर्ण करके बैकुंठ वापिस जा रहे थे तब सभी देवी देव , यक्ष , नाग , मानव सब वो दृश्य देख रहे थे और भगवान श्री राम लोगो को मोक्ष दे रहे थे ये देख नारद जी बोले प्रभु आगे आने वाला समय बड़ा दुष्कर है विशेष तोर पर कलयुग में लोगो को मोक्ष कैसे मिलेगा अभी तो आपके दर्शन सरलता से मिल रहे है जिससे लोगो को मोक्ष की प्राप्ति हो रही है लेकिन कलयुग में तो ये बहुत ही कठिन हो जायेगा तब लोगो को मोक्ष कैसे मिलेगा , तब भगवान श्री राम कहते है कलयुग में सिर्फ नाम ही महिमा होगी , कलयुग में मोक्ष पाना बड़ा ही आसान है , कलयुग के इंसान को कोई कठोर जप तप करने की आवश्यता नहीं है वो सिर्फ राम नाम से ही इस जन्म मरण के बंधनो से मुक्त हो जायेगा और बैकुंठ में उसका स्थान होगा ! ये कहकर भगवान श्री राम बैकुंठ चले गए ! भक्तो राम नाम की महिमा इतनी है की राम जी के नाम को श्री राम से भी बड़ा बताया है तभी कहते है राम से बड़ा राम का नाम ! आज इंसान के पास मुश्किल से ६० साल का जीवन होता है अगर हम इन ६० सालो को हम अच्छे कर्म करके राम नाम सुमिरन में निकाल दे तो आगे ये जीवन मरण के झझंट से तो बच जायेंगे ! ये जीवन प्रभु सिमरन में निकाल दो फिर आराम से प्रभु की शरण में रहना नहीं तो बार बार ये जन्म भी नहीं मिलने वाला फिर भटकते रहना है ! मै ये नहीं कहता की सन्याशी बन जाओ घर बार छोड़ दो , आप अपने कर्तव्य का पालन करे और साथ में अच्छे कर्म के साथ साथ भक्ति भी करो , धन आदि मेहनत और ईमानदारी से कमाओ ये भी भक्ति में ही आता है ! क्योकि हम भगवान के बताये हुए नियमो पर ही चल रहे है ! अब ये आपके हाथ में है की सांसारिक सुख के पीछे ये अनमोल जीवन नष्ट करना है या भक्ति सुख पाकर अलौकिक सुख भोगना है वो भी भगवान जी केलोक में !

Categories entry: story / History
« back

Add a new comment

Manifo.com - free business website