“ सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥
 

आदतों को सुधारो तो ग्रह भी सुधरते है ,जाने कैसे ???

2017-04-07 18:07:49, comments: 0

 


आदत बदलने से ही ग्रह भी आपकी कुंडली के ठीक होते है।

मंदिर को साफ़ करते है तो बृहस्पति बहुत अच्छे फल देगा । 

अपनी झूठी थाली या बर्तन उसी जगह पर छोड़ना -सफलता मे कमी..
झूठे बर्तन को उठाकर जगह पर रखते है या साफ़ कर लेते है तो चन्द्रमा , शनि ग्रह ठीक होते है ।

देर रात जागने से चन्द्रमा अच्छे फल नहीं देता है।

कोई भी बाहर से आये उसे स्वच्छ पानी जरुर पिलाए। राहू ग्रह ठीक होता है । राहू का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता । 

रसोई को गन्दा रखते हैं तो आपको मंगल ग्रह से दिक्क्तें आएँगी। रसोई हमेशा साफ़ सुथरी रखेंगै तो मंगल ग्रह ठीक होता ।

घर में सुबह उठकर पौधों को पानी दिया जाता है तो हम बुध,सूर्य,शुक्र और चन्द्रमा मजबूत करते हैं ।।

जो लोग पैर घसीट कर चलते है उन का राहु खराब होता है । 

बाथरूम में कपडे इधर उधर फेंकते है , बाथरूम में पानी बिखराकर आ जाते है तो चन्द्रमा अच्छे फल नहीं देता है। 

बाहर से आकर अपने चप्पल , जूते , मोज़े इधर उधर फेंक देते है ,उन्हें शत्रु परेशान करते है 
राहू और शनि ठीक फल नही देते है जब बिस्तर हमेशा फैला हुआ होगा , सलवटे होंगी ,चादर कही , तकिया कही है।।

चीख कर बोलेंने से शनि खराब खराब होता है

बुजूर्गों के आशीर्वाद से घर में सुख समृद्धि बढती है तथा गुरू ग्रह अच्छा होता है।।

घर में बच्चे और वृद्ध खुश रहते है उस घर में लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

आप ने जाना की खराब आदतों के कारण से आप अपने ग्रहों को खराब कर रहे है। अपने आप को बदलकर देखिए,और ग्रहों के खराब प्रभाव ठीक कीजिये।
Categories entry: story / History
« back

Add a new comment

Manifo.com - free business website