“ सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥
 

Jai Mata Di

ऋषि दुर्वासा और कल्पवृक्ष की कथा

2017-03-24 19:20:25
Rishi Durvasa and Kalpavriksha Tree Story : एक समय जब श्री रामचंद्र जी का दर्शन करने के लिए अपने साठ हजार शिष्यों सहित दुर्वासा ऋषि अयोध्या को जा रहे थे, तब मार्ग में जाते हुए दुर्वासा ने सोचा कि...
read more

महाबली राजा बलि के 10 रहस्य, जानिए..

2017-03-06 19:07:22
प्राचीनकाल में सुर और असुरों का ही राज्य था। सुर को देवता और असुरों को दैत्य कहा जाता था। दानवों और राक्षसों की प्रजाति अलग होती थी। गंधर्व, यक्ष और किन्नर भी होते थे। असुरों के पुरोहित शुक्राचार्य भग...
read more

जानिए देवी सरस्वती का वाहन हंस क्यों है?

2017-02-27 17:22:09
सरस्वती को विद्या और बुद्धि की देवी माना गया है। जिस तरह भगवान शंकर का वाहन नंदी, विष्णु का गरुड़, कार्तिकेय का मोर, दुर्गा का सिंह और श्रीगणेश का वाहन चूहा है, उसी तरह सरस्वती का वाहन हंस है। देवी सर...
read more

ऐसा क्यों – हिन्दू धर्म में अंतिम संस्कार के बाद नहाना क्यों जरुरी है?

2017-02-27 17:20:00
किसी भी शवयात्रा में जाना और मृत शरीर को कंधा देना लगभग सभी धर्मों में बड़े ही पुण्य कार्य माना गया है। धर्म शास्त्रों का कहना है कि शवयात्रा में शामिल होने और अंतिम संस्कार के मौके पर उपस्थित रहने से...
read more

सीता की निंदा करने वाले धोबी के पूर्व जन्म का वृत्तान्त

2017-02-27 17:16:57
मिथिला नाम की नगरी में महाराज जनक राज्य करते थे। उनका नाम था सीरध्वज। एक बार वे यज्ञ के लिए पृथ्वी जोत रहे थे उस समय फाल से बनी गहरी रेखा द्वारा एक कुमारी कन्या का प्रादुर्भाव हुआ। रति से भी सुंदर कन्...
read more

महाशिवरात्रि व्रत कथा : Mahashivratri Vrat Katha

2017-02-24 11:00:10
एक बार एक गाँव में एक शिकारी रहता था। पशुओं की हत्या करके वह अपने कुटुम्ब को पालता था। वह एक साहूकार का ऋणी था, लेकिन उसका ऋण समय पर न चुका सका। क्रोधवश साहूकार ने शिकारी को शिवमठ में बंदी बना लिया। स...
read more

सालों से जल रही है यहाँ ज्वाला, शिव-पार्वती ने लिए थे 7 फेरे!

2017-02-23 18:27:44
हिन्दू धर्म के बारे में दुनिया भर में कई तरह की धारणाएं प्रचलित है। कुछ लोग ऐसे भी है जो भगवान में विश्वास नहीं करते है मगर दुनिया भर में कुछ ऐसे भी वाक्ये है जिनको देखते हुए भगवान के न होने से इंकार ...
read more

सुदामा को गरीबी क्यों मिली?

2017-02-08 18:21:13
एक ब्राह्मणी थी जो बहुत गरीब निर्धन थी। भिच्छा माँग कर जीवन यापन करती थी। एक समय ऐसा आया कि पाँच दिन तक उसे भिच्छा नही मिली वह प्रति दिन पानी पीकर भगवान का नाम लेकर सो जाती थी। छठवें दिन उसे भिच्छा मे...
read more

जानिए देवी सरस्वती का वाहन हंस क्यों है?

2017-02-08 18:02:57
सरस्वती को विद्या और बुद्धि की देवी माना गया है। जिस तरह भगवान शंकर का वाहन नंदी, विष्णु का गरुड़, कार्तिकेय का मोर, दुर्गा का सिंह और श्रीगणेश का वाहन चूहा है, उसी तरह सरस्वती का वाहन हंस है। देवी सर...
read more

महादेवशाल धाम, झारखंड

2017-01-26 11:15:43
हमारे शास्त्रों में शिवजी सहित किसी भी देवता की खंडित मूर्ति की पूजा करने की मनाही है लेकिन शिवलिंग एक अपवाद है वो चाहे कितना भी खंडित हो जाए , सदैव पूजनीय है। इसका जीता-जागता उदाहरण झारखंड के गोइलकेर...
read more

« Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 Next »
Manifo.com - free business website